Monday, December 11, 2017
Home > Latest post > चेतेश्‍वर पुजारा बोले, क्रिकेट में मेरा सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन अभी आना बाकी है

चेतेश्‍वर पुजारा बोले, क्रिकेट में मेरा सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन अभी आना बाकी है

कोलकाता: पिछले एक साल में भारत के लिए टेस्ट में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले मध्य क्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा का मानना है कि वे अभी भी अपनी बल्‍लेबाजी के शीर्ष स्‍तर पर नहीं पहुंचे हैं. टीम इंडिया के मध्‍यक्रम के इस बल्‍लेबाज ने कहा कि उन्‍हें अपनी बैटिंग में कई सुधार करने हैं. उन्‍होंने कहा कि मेरा सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन आना अभी बाकी है. पुजारा ने आईएएनएस को फोन पर दिए इंटरव्‍यू में कहा, “एक क्रिकेट खिलाड़ी के तौर पर, मैं हमेशा महसूस करता हूं कि मेरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अभी आना बाकी है. मैं अपने खेल पर काफी मेहनत कर रहा हूं.”

हाल ही में भारत को श्रीलंका में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले पुजारा ने कहा, “मैं अच्छा बैटिंग कर रहा हूं, लेकिन अभी भी कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जहां मुझे सुधार करना है. इसलिए यह मेरे करियर का सर्वश्रेष्ठ दौर नहीं है. मेरा मानना है कि मेरा सर्वश्रेष्ठ आना अभी बाकी है.” सौराष्ट्र के लिए खेलने वाले पुजारा दिन-प्रतिदिन अपने आप को मजबूत करते जा रहे हैं. उनकी बल्लेबाजी में नई परिपक्वता दिखी है जिसने उन्हें नए मिस्टर भरोसेमंद खिलाड़ी के तौर पर पहचान दिलाई है. पुजारा श्रीलंका के खिलाफ खेली गई सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी थे. उन्होंने तीन मैचों में 309 रन बनाए थे, जिसमें दो शतक भी शामिल हैं. जब से टीम पिछले साल वेस्टइंडीज से लौटी है तब से कप्तान विराट कोहली के साथ पुजारा लगातार रन बना रहे हैं. उन्होंने 2016-17 घरेलू सत्र के 13 मैचों में 1,316 रन बनाए हैं.

पुजारा का मानना है कि नॉटिंघमशायर के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने से उन्हें काफी फायदा हुआ है. पुजारा ने इस पर कहा, “काउंटी क्रिकेट में मेरा यह तीसरा सीजन है. मैं पहले डर्बीशायर के लिए खेला, फिर यार्कशायर और अब नॉटिंघमशायर के लिए खेल रहा हूं. इसलिए मैं काउंटी क्रिकेट खेलने का लुत्फ उठा रहा हूं.” उन्होंने कहा, “वहां विकेट चुनौतीपूर्ण होते हैं, जिनमें तेज गेंदबाजों के लिए कुछ न कुछ होता है. इसलिए आप जब वहां रन बनाते हो तो आत्मविश्वास बढ़ता है क्योंकि आप अपनी तकनीक को अच्छे से जान जाते हो. वहां का माहौल भी आपकी मदद करता है. मैंने वहां खेलते हुए काफी कुछ सीखा है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Please wait...

Subscribe to our newsletter

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.