Friday, August 18, 2017
Home > ब्लॉग

करियर टिप्स: आगे बढ़ते जाना है, तो ध्यान रखनी होंगी से पांच बातें…

करियर में कई बार हम समय से काफी पीछे छूट जाते हैं. ऐसा लगता है कि सब कुछ अच्छा होते हुए भी कुछ कमी है. जिस समय जहां होना चाहिए अगर आप खुद को उस समय वहां नहीं पाते, तो जरूरत है कुछ बातों पर ध्यान देने की- एक्सिलेंस है जरूरी:  हो

Read More

डॉ. बलवीर सिंह तोमर को राजस्थान हाई कोर्ट ने इंडियन मेडिकल ट्रस्ट का सेटलर ट्रस्टी घोषित किया और शोभा तोमर की अर्जी ख़ारिज कर दी …

देश ही नहीं बल्कि दुनिया के बेहतरीन मेडिकल शिक्षा संस्थान में शुमार निम्स यूनिवर्सिटी....एक परिवार के आपसी कलह का कुरुक्षेत्र बनी....जिसमें एक तरफ थे निम्स यूनिवर्सिटी के चेयरमैन एंड चांसलर डॉक्टर बीएस तोमर....तो इस रणभूमि में दूसरी तरफ था उनका अपना ही परिवार....अपनी कड़ी मेहनत, लगन और अथक कोशिशों से

Read More

झूठी ख़बरों पर भरोसा करने के पीछे का विज्ञान-The Wire

हम अक्सर किसी टिप्पणी या दलील को महज़ इसलिए स्वीकार कर लेते हैं, क्योंकि वे हमारी परंपरागत मान्यताओं के अनुरूप होती हैं. ऐसा करते वक़्त हम न तो इनके पीछे के तर्कों की परवाह करते हैं, न दावों की प्रामाणिकता जांचने की ज़हमत उठाते हैं. हाल के समय में फ़ेक न्यूज़

Read More

क्या आपके जीन में सोल्जर है …

दोस्तों कुछ दिनों से एक खबर ट्रेंडिंग में चल रही है जिसमे ये कहा जा रहा है की इंडियन आर्मी के पास गोला बारूद की कमी है जिससे हम ज्यादा देर तक दुश्मन का सामना नहीं कर सकते. अब आप खुद ही सोचो की अगर हम देश के लोग ही

Read More

‘लेडी विराट कोहली’ नहीं हैं ये – वक्त आ गया है शब्दावली बदलने का

आज ख़बर एंकर करते हुए जब सामने स्कोरकार्ड आया, तो मुंह से अंग्रेज़ी शब्द निकल गया और फिर मैं सोच में पड़ गया कि क्या मेरी इस्तेमाल की गई शब्दावली गलत तो नहीं. दरअसल टीम इंडिया जब विश्वकप जीतते-जीतते हार गई, तब मैं एंकरिंग करने स्टूडियो में ही था. उसी

Read More

कादम्बिनी शर्मा का ब्लॉग : क्या चीन और भारत के बीच तनाव कम होगा…

डोकलाम इलाके में भारत और चीन की सेना को आमने-सामने खड़े एक महीना होने को आया. दोनों में से कोई भी सेना पीछे हटने की जल्दी में नहीं. जिस इलाके को चीन प्राचीन काल से अपना बताकर सड़क बनाने की बात कर रहा है और भारत को पीछे हटने को

Read More

क्या कोविंद आखिरी दलित होंगे जिनका घर टपकता हो ?

क्या कोविंद आखिरी दलित होंगे जिनका घर टपकता हो ? देश के पहले नागरिक चुने जाने पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की खुशी  भावपूर्ण थी: "बारिश मुझे मेरे घर में पानी टपकने और बचपन में गरीबी की याद दिलाती है" कोविंद की यात्रा से समाज के गरीब और वंचित वर्गों को बहुत आश्वस्त

Read More

क्या राजपूतों को अपनी राजनैतिक पार्टी बनाने पर विचार करना चाहिए ?

नमस्कार दोस्तों , एक हुंकार एक ऐलान और एक विश्वास ने राजपूतों को फिर से जगाने का जो काम किया है वो अब इतिहास के पन्नो में शायद लिखा जाए l लेकिन क्या ये राजपूत इसी तरह से राजपूत आंदोलन के लिए बने है या जातीय समीकरण के लिए की वो

Read More

CBI जाँच : राजपूतों के खिलाफ साजिश या फिर एक समाधान ?

राजस्थान के राजपूतों की हुंकार के सामने सरकार का नतमस्तक होना कितना सच है ये तो आने वाला वक़्त ही बताएगा l क्योंकि अचानक सरकार ने राजपूतों की वो सारी माँगे मान ली जो की पिछले एक महीने से सारे राजपूत सड़कों पर अपनी माँगो को लेकर प्रदर्शन कर रहे

Read More

राजपूत खुशफहमी में तो नहीं हैं सरकार के झुकने को लेकर !

  राजस्थान के राजपूत खुश हैं की सरकार उनके सामने झुक गयी. सरकार १८ दिन की टालमटोल के बाद आंदोलित राजपूतों की मांग मान गयी. सरकार ने गैंगस्टर आनंदपाल की मुठभेड़ की सीबीआई द्वारा जाँच कराने की बात मान ली है. यह ज़रूरी नहीं ख़ुशी बनी रहेगी. क्योंकि सरकार मात्र इतना कह

Read More
Please wait...

Subscribe to our newsletter

Want to be notified when our article is published? Enter your email address and name below to be the first to know.