खबरें

लद्दाख में टेंशन बड़ी, चीन ने भी अफ़सोस जाहिर किया की उसका कमांडिंग अफसर मारा गया.

laddakh india china army meeting

भारत और चीन के आर्मी कमांडर्स के साथ मीटिंग, लद्दाख में हुई. इस मीटिंग में बॉर्डर पर हिंसक झड़प और बहस को काम कर शांति लेन का प्रयास किया है.

जानकारी के अनुसार भारत और चीन के कमांडर में दावे पेश किये है. साथ ही चीन के आर्मी के माना है की उनके कमांडर की भी मौत हुए है उन्होंने यहाँ मन है की नुक्सान तो उनका भी हुआ है।

भारतीय सुरक्षा बलों ने उत्तराखंड, लद्दाख, हिमाचल, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश की सीमा पर निगरानी बढ़ा दी है। अरुणाचल प्रदेश में तवांग और चीन से सटे क्षेत्र की निगरानी, सुरक्षा के लिए लगभग 50 हजार सेना के जवान तैनात हैं।

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए माउंटेन डिवीजन को भी अलर्ट कर दिया गया है। भारत की यह तैयारी चीन की तैयारी के मद्देनजर है।

चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा के साथ अपने सैन्य अड्डे को बहुत बढ़ा दिया है। चीनी सेना ने पैंगोंग त्सो झील के पास स्थायी बंकरों, सैन्य संरचनाओं आदि का निर्माण किया है। फिंगर 4 से 8 तक, वह भारतीय सुरक्षा बलों को गश्त करने की अनुमति नहीं दे रहा है और गालवन घाटी में भारतीय क्षेत्र को पूरी तरह से खाली नहीं कर रहा है।

Most Popular

To Top